chessbase india logo

NEW Fritz 17 is now available

Fritz 17 - The giant PC chess program, now with FAT Fritz*. An extremely strong neural net engine inspired by Alpha Zero, which produces human-like strategic analyses of world class quality. Order now to get your hands on Fritz 17 and Fat Fritz*.

टाटा स्टील शतरंज : हो गया शुभारंभ ! देखे लाइव

22/11/2019 -

अब से बस कुछ ही देर बात टाटा स्टील इंडिया शतरंज रैपिड के मुक़ाबले शुरू होने वाले है और भारत के विश्वनाथन आनंद के सामने होंगे  चीन के डिंग लीरेंन जबकि पेंटाला हरिकृष्णा और विदित गुजराती को आपस मे मुक़ाबला खेलना होगा । खैर बात करे उदघाटन समारोह की तो भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और वर्तमान बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरभ गांगुली नें विश्वनाथन आनंद के साथ मिलकर पहली चाल d4 चलकर शुभारंभ किया तो विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन नें जबाब दिया d5 ! कोलकाता के होटल ताज में हुए इस कार्यक्रम में खिलाड़ियों के मैच की सीडिंग और रंग का भी चयन किया गया । कोलकाता से सागर शाह ,अमृता मोकल और शाहिद अहमद कर रहे है चेसबेस इंडिया के लिए विश्वस्तरीय कवरेज ! देखे यहाँ लाइव मुक़ाबले !

टाटा स्टील इंडिया 2019 - कौन बनेगा इस बार का राजा

21/11/2019 -

भारत का सबसे बड़ा इंटरनेशनल टूर्नामेंट एक साल बाद भारत लौट आया है , जी हाँ टाटा स्टील इंडिया शतरंज चैंपियनशिप  एक बार फिर रैपिड और ब्लिट्ज़ फॉर्मेट मे खेली जाएगी,और सबसे बड़ी बात यह की मौजूदा विश्व शतरंज चैम्पियन मेगनस कार्लसन भी इस प्रतियोगिता में खेलने के लिए छह साल बाद भारत पहुँच चुके है । भारत का प्रतिनिधित्व एक बार फिर 5 बार के विश्व चैम्पियन विश्वनाथन आनंद ,पेंटाला हरिकृष्णा और विदित गुजराती कर रहे है । खैर प्रतियोगिता तो कल से शुरू होगी पर वेसली सो ,हिकारु नाकामुरा ,अनीश गिरि और पेंटाला हरिकृष्णा नें दो दिन पहले ही यहाँ पहुँच कर कोलकाता की मेहमान नवाजी का खूब आनंद उठाया है ।  22 नवंबर से 24 नवंबर तक पहले रैपिड के मुक़ाबले खेले जाएँगे तो 25 और 26 नवंबर को ब्लिट्ज़ के मुक़ाबले होंगे । तो कौन जीतेगा इस बार का खिताब इसके साथ साथ इस बात पर भी नजर रहेगी की क्या विश्वनाथन आनंद जीसीटी के पॉइंट्स अर्जित कर लंदन के फ़ाइनल में जगह बना पाएंगे ?

राष्ट्रीय U-11 : दक्षिण अरुण और अनुपम खिताब की ओर

21/11/2019 -

अखिल भारतीय शतरंज संघ से संबंद्ध दिल्ली शतरंज संघ के तत्वावधान में नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इंडोर  स्टेडियम के केडी जाधव हाल में चल रही राष्ट्रीय अण्डर-11  चैम्पियनशिप अब अपने समापन के करीब पहुँच गयी है 9 चक्रों की समाप्ति के बाद नन्हे खिलाड़ियों ने प्रतियोगिता को पूरे रोमांच पर पहुंचा दिया है। ओपन वर्ग में 28वीं सीटेड तमिलनाडु के दक्षिण अरूण(1644) बेहरीन खेल से अपने प्रतिद्धद्धियों को अपनी चालों की चक्रव्यूह में फंसाकर अंक तालिका में पहले स्थान पर काबिज हो गए है और अपराजित रहते हुए 8.5 अंक अर्जित कर लिए है। वहीं बालिका वर्ग में टॉप सीटेड अनुपम श्रीकुमार का विजय रथ शतरंज की बिसात पर सभी प्रतिद्धद्धियों को पछाड़ कर सरपट भाग रहा है। 9 चक्रों की समाप्ति पर अनुपम ने नाबाद रहती हुई 8.5 अंक बनाकर बढ़त पर बनी हुई है । दोनों खिलाड़ियों नें साफ एक अंक की बढ़त हासिल कर ली है और ऐसे मे वह दोनों खिताब की दौड़ में सबसे आगे निकल गए है । पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट

मृदुल देहांकर बनी महिला ग्रांडमास्टर टूर्नामेंट विजेता

20/11/2019 -

भारतीय महिला शतरंज को एक नई ऊंचाई देने के अखिल भारतीय शतरंज संघ के इस वर्ष किए गए प्रयास सचमुच सराहनीय रहे है । भारतीय खेल प्राधिकरण के सहयोग से इस वर्ष फरवरी में चेन्नई से शुरू हुए महिला ग्रांड मास्टर टूर्नामेंट नें अहमदाबाद में अपना अंतिम पड़ाव पूरा किया और इस दौरान दिव्या देशमुख और मृदुल देहांकर जैसे खिलाड़ियों नें अपने प्रदर्शन से इस प्रयास की सफलता सुनिश्चित की । अच्छी पुरूष्कार राशि के साथ विदेश की बड़ी महिला खिलाड़ियों को आमंत्रित करना और इस तरह के मुक़ाबले आयोजित करना एक बेहद ही अच्छा कदम कहा जा सकता है और उम्मीद है यह प्रयास यूं ही जारी रहेगा । खैर बात करे अहमदाबाद के मुक़ाबले की तो यहाँ नागपुर की मृदुल देहांकर नें खिताब जीतकर भारत का गौरव बढ़ाया और 1,60,000 रुपए के पुरूष्कार पर कब्जा जमाया । कुल 11 राउंड में से 9 अंक बनाकर वह विजेता बनी । गुजरात शतरंज संघ नें एक बार फिर अपनी बेहतरीन आयोजन क्षमता का नमूना इस प्रतियोगिता से दिया । पढे  यह लेख । 

भोपाल इंटरनेशनल ग्रांडमास्टर टूर्नामेंट 2019:आमंत्रण

19/11/2019 -

भोपाल इंटरनेशनल ग्रांड मास्टर शतरंज टूर्नामेंट अपने तीसरे संस्करण में पहुँच गया है और इस बार इसका स्वरूप और बड़ा होने जा रहा है। वैसे तो यह भोपाल में होने वाले इस आयोजन का आठवाँ संस्करण है क्यूंकी 2012 से 2016 के दौरान लगातार पाँच  साल यहाँ इंटरनेशनल फीडे रेटिंग स्पर्धा का भव्य आयोजन भी किया गया। 21 से 28 दिसंबर के दौरान होने वाले इस आयोजन में एक बार फिर देश विदेश के कई बड़े नाम शिरकत करते नजर आएंगे । प्रतियोगिता की पुरूष्कार राशि इस बार बढ़ाकर 14 लाख 14 हजार कर दी गयी है जो इसे मध्य भारत का अब तक का सबसे बड़ा टूर्नामेंट बना रही है । इस बार एक और बड़ा आकर्षण आपको इसमें नजर आएगा जब क्लासिकल के साथ साथ अब ब्लिट्ज़ इंटरनेशनल शतरंज में भी शिरकत कर पाएंगे । अभी तक प्राप्त जानकारी के अनुसार  उज्बेकिस्तान के बेहद प्रतिभाशाली खिलाड़ी ग्रांडमास्टर याक़ूबबोएव नोदिरबेक प्रतियोगिता के टॉप सीड होंगे । तो देर ना करे और अपना प्रवेश सुनिश्चित करे ।प्रतियोगिता इंटरनेशनल ग्रांड मास्टर और इंटरनेशनल मास्टर नार्म के लिए एक अच्छा मौका हो सकती है। पढे यह आमंत्रण लेख 

ग्रीसचुक नें जीता फीडे ग्रां प्री खिताब ,पहुंचे कैंडीडेट

18/11/2019 -

तो आखिरकार अनुभव युवा जोश पर भारी पड़ा और हॅम्बर्ग (जर्मनी ) में रूस के दिग्गज 36 वर्षीय खिलाड़ी अलेक्ज़ेंडर ग्रीसचुक नें 21 वर्षीय पोलैंड के युवा खिलाड़ी जान डूड़ा को टाईब्रेक मुक़ाबले में 3.5-2.5 से पराजित करते हुए ना सिर्फ फीडे ग्रां प्री का खिताब अपने नाम कर लिया बल्कि साथ ही अब उन्होने फीडे कैंडीडेट में भी अपना स्थान सुनिश्चित का लिया है । अब यह भी साफ हो गया है की फीडे कैंडीडेट में दो खिलाड़ी रूस के होंगे क्यूंकी यह भी साफ है की वाइल्ड कार्ड एंट्री के नियमों के अनुसार कोई रूस का खिलाड़ी ही अब आठवे स्थान पर होगा । खैर बात करे फ़ाइनल टाईब्रेक की तो ग्रीसचुक नें पहला टाईब्रेक हारने के बाद जिस तरह से वापसी की वह वाकई उनके स्तर को दिखाता है । पहला ही रैपिड टाईब्रेक हारकर खिताब गवाने की स्थिति में आ गए ग्रीसचुक नें जान डूड़ा को लगातार 2 मुक़ाबले हराए और अंतिम पूरी तरह से जीता मुक़ाबला ड्रॉ खेलकर खिताब पाने नाम किया । पढे यह लेख 

सुधीर कुमार सिन्हा बने बिहार राज्य सीनियर चैम्पियन

17/11/2019 -

पटना के सुधीर कुमार सिन्हा बिहार स्टेट सीनियर चैम्पियन बन गए है । मुजफ्फरपुर जिला शतरंज संघ के तत्वावधान में आयोजित बिहार राज्य सीनियर शतरंज प्रतियोगिता का शानदार समापन किया गया पिछले 5 दिनों से चल रहे इस प्रतियोगिता में बिहार के कुल 14 जिलों से 89 खिलाड़ियों ने भाग लिया मुख्य निर्णायक इंटरनेशनल आर्बिटर अरविंद कुमार सिंह एवं सह निर्णायक नंद किशोर श्रीवास्तव की देखरेख में संपन्न प्रतियोगिता बिना किसी विवाद का समाप्त हुई । प्रतियोगिता को बिहार के शीर्ष खिलाड़ी सुधीर कुमार सिन्हा नें 7.5 अंक बनाकर एक बार फिर खिताब अपने नाम किया । जबकि दूसरे से लेकर छठे स्थान तक 5 खिलाड़ी 7 अंको पर थे पर बेहतर टाईब्रेक के आधार पर टॉप सीड वाईपी श्रीवास्तव दूसरे तो पीयूष कुमार तीसरे स्थान पर रहे । पढे यह लेख 

राष्ट्रीय U-11 रोमांचक परिणामो के साथ हुआ आगाज

16/11/2019 -

अखिल भारतीय शतरंज संघ से संबंद्ध दिल्ली शतरंज संघ के तत्वावधान में नई दिल्ली के इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम के केडी जाधव हाल में राष्ट्रीय अण्डर-11 ओपेन चेस चैम्पियनशिप का शानदार शुभारंभ 15 नवंबर को किया गया। 23 नवंबर तक चलने वाली ओपेन और बालिका वर्ग में आयोजित हो रही यह प्रतियोगिता 11 चक्रों में राउण्ड स्विस लीग आधार में खेली जा रही है। इस प्रतियोगिता से अगले वर्ष ग्रीस में होने वाली विश्व अण्डर-12 चैम्पियनशिप के लिए भारतीय खिलाड़ियों का चयन किया जाएगा। दो राउण्ड की समाप्ति के बाद ओपेन वर्ग में जहां 52 खिलाड़ी दो अंको पर खेल रहे है। वहीं बालिका वर्ग में 32 खिलाड़ी दो अंक बनाकर दावेदारी पेश कर रही है। पढ़े नितेश श्रीवास्तव की रिपोर्ट

यूरोपियन क्लब कप - कोनेरू हम्पी की जोरदार जीत

15/11/2019 -

एलसीनिज ,मोंटेनेगरों में चल रही यूरोपियन क्लब कप इंटरनेशनल शतरंज लीग में भारत से कई खिलाड़ी विभिन्न क्लबो की ओर से भाग ले रहे है । पुरुष भारत में के नंबर दो खिलाड़ी पेंटाला हरिकृष्णा , नंबर 3 खिलाड़ी विदित गुजराती , कृष्णन शशिकिरण , के अलावा दीपसेन गुप्ता भाग ले रहे है जबकि महिला वर्ग में कोनेरु हम्पी अकेली भारतीय खिलाड़ी है । फिलहाल प्रतियोगिता में  5 राउंड खेले जा चुके है जबकि अभी 2 राउंड और खेले जाने बाकी है । फिलहाल कोनेरु हम्पी को छोड़कर कोई भी भारतीय खिलाड़ी अपने स्तर के अनुसार प्रदर्शन नहीं कर सका है पर उम्मीद है अगले दो राउंड में वह अच्छा खेलकर प्रतियोगिता का समापन करेंगे । खैर बात करे पांचवे राउंड में कोनेरु हम्पी की जीत की तो उन्होने शीर्ष जोर्जियन खिलाड़ी नाना दागनिद्जे पर एक शानदार जीत दर्ज की । पढे यह लेख 

हिमल गुसैन नें जीता सुनीता सिंह मेमोरियल फीडे रेटिंग

14/11/2019 -

अखिल भारतीय शतरंज संघ और मध्य प्रदेश शतरंज संघ द्वारा अधिकृत आल इंदौर चेस एसोसिएशन द्वारा इंदौर  के एमराल्ड इंटरनेशनल स्कूल में सुनीता सिंह एवं संजय कासलीवाल मेमोरियल ऑल इंडिया फीडे रेटिंग शतरंज स्पर्धा का आयोजन किया गया । यह छठा ऐसा मौका था जब इस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । प्रतियोगिता में कई राज्यो से कुल 295 खिलाड़ियों नें भाग लिया जिसमें से 156 खिलाड़ी फीडे रेटेड थे । टॉप सीड इंटरनेशनल मास्टर हिमल गुसैन नें पूरी प्रतियोगिता में शानदार खेल का परिचय देते हुए सभी आठ राउंड जीतकर 100 % रेकॉर्ड का साथ खिताब अपने नाम किया । छत्तीसगढ़ के रेल्वे के विनोद शर्मा 7 अंक बनाकर बेहतर टाईब्रेक के आधार पर दूसरे स्थान पर रहे जबकि तेलांगना की वुमेन फीडे मास्टर सहजश्री 7 अंक लेकर तीसरे स्थान पर रही । प्रतियोगिता में कुल 2,50,000 रुपेय के पुरुष्कार वितरित किए गए जिसमें विजेता का 30,000 ,उपविजेता को 21000 तो तीसरे स्थान पर 18000 रुपेय का पुरुष्कार दिया गया । पढे यह लेख 

हॅम्बर्ग फीडे ग्रां प्री - अब ग्रीसचुक से टकराएँगे जान डूड़ा

14/11/2019 -

हॅम्बर्ग फीडे ग्रां प्री का विजेता कौन होगा इसका पता अब हमें बस अगले कुछ दिनो मे चल जाएगा क्यूंकी अब यह तय हो गया है की फ़ाइनल में रूस के अलेक्ज़ेंडर ग्रीसचुक के सामने होंगे पोलैंड की युवा प्रतिभा जान डूड़ा । जहां ग्रीसचुक नें खिताब के प्रबल दावेदार फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव को पराजित कर फ़ाइनल में जगह बनाई है तो जान ने रैपिड टाईब्रेक में विश्व रैपिड चैम्पियन रूस के डेनियल डुबोव को मात देते हुए फ़ाइनल में अपना स्थान पक्का कर लिया । डेनियल और जान के बीच क्लासिकल मुकाबलो में परिणाम नहीं आ सका था । खैर अब फ़ाइनल की बात करे तो यह और ज्यादा महत्वपूर्ण इसीलिए हो जाता है क्यूंकी अगर ग्रीसचुक जीते तो उनका कैंडीडेट में स्थान सीधे ही पक्का हो जाएगा और अगर जान जीते तो फिर ऐसे में ग्रीसचुक को अंतिम ग्रां प्री के परिणामो का इंतजार करना होगा । पढे यह लेख 

हॅम्बर्ग फीडे ग्रां प्री - फ़ाइनल में पहुंचे ग्रीसचुक

13/11/2019 -

हॅम्बर्ग ,जर्मनी में कल रूस के अलेक्ज़ेंडर ग्रीसचुक नें एक बेहद शानदार मुक़ाबले में फ्रांस के मेक्सिम लागरेव को पराजित करते हुए ना सिर्फ फीडे ग्रांड प्रिक्स के फ़ाइनल में जगह बना ली है बल्कि अब वह तकनीकी तौर पर फीडे कैंडीडेट में भी जगह बनाने के करीब पहुँच गए है । सेमी फ़ाइनल में दो मुक़ाबले खेले गए जिसमें पहले मैच में काले मोहरो से ग्रीसचुक नें पहले मेक्सिम को ड्रॉ पर रोका और फिर दूसरे मैच में जीत के सहारे - 1.5-0.5 से जीतकर अब फ़ाइनल में पहुँच गए है । इंग्लिश ओपनिंग में हुए इस मुक़ाबले में ग्रीसचुक की एंडगेम की समझ लाग्रेव पर भारी पड़ी और फ़ाइनल में उनका मुक़ाबला अब पोलैंड के जान डुड़ा और रूस के डेनियल डुबोव के विजेता से होगा जो की आज फ़ाइनल में पहुँचने के लिए टाईब्रेक का सामना करेंगे । पढे यह लेख 

यहाँ मिलेगा आपको हिन्दी शतरंज विडियो का खजाना !

12/11/2019 -

दोस्तों हिन्दी भाषा क्षेत्र में खेल को आगे ले जाने के उद्देश्य से हमने एक वर्ष पूर्व हिन्दी चेसबेस इंडिया यूट्यूब चैनल की शुरुआत की थी । लगातार आपको हमने इस दौरान हर बड़े मुक़ाबले की जानकारी आपको इस चैनल के माध्यम से हिन्दी में देने की कोशिश की है और आज आपसे यह कहते हुए बेहद खुशी है की इस दौरान हिन्दी में शतरंज को सुनने समझने वाले कई लोगो से हमें बहुत प्यार और सहयोग मिला है । आज हिन्दी चेसबेस इंडिया चैनल का परिवार 5000 सदस्यों वाला हो गया है और उम्मीद है यह सिलसिला चलता रहेगा । इस लेख में हम आपको इस चैनल के इस्तेमाल और आपके काम के विडियो के बारे में बताएँगे ! पढे यह लेख और अगर अभी तक आपने इस चैनल को सबस्क्राइब नहीं किया है तो जुड़े इस चैनल से । 

सुपरबेट ब्लिट्ज़ : विश्वनाथन आनंद है तो मुमकिन है !

11/11/2019 -

अगर आप जानना चाहते है की आखिर वह कौन सी बात है जो विश्वनाथन आनंद को भारत के अन्य सभी खिलाड़ियों से अलग रखती है तो आपको ज्यादा दूर जाने की जरूरत नहीं है , कल रोमानिया के बुकारेस्ट मे आनंद नें एक बार फिर दिखाया की बात उम्र या खेल की नहीं है, बात है जज्बे की, आज से ठीक 1 माह बाद उम्र का 50वां पड़ाव छूने जा रहे आनंद नें कल सुपरबेट ब्लिट्ज़ शतरंज में अपनी उम्र से आधे के कई खिलाड़ियों के बीच सभी 9 राउंड में अविजित रहते हुए कुल 3 जीत और 6 ड्रॉ के साथ कुल 6 अंक बनाए और ओवरआल स्थिति में गज़ब का सुधार करते हुए तीसरे स्थान पर रहे । ज्ञात हो की एक दिन पहले ही आनंद सयुंक्त 5वे स्थान पर पहुँच गए थे । आखिरी दिन आनंद नें जिस तरह से वापसी की दरअसल वह एक मिशाल है, उनकी मानसिक मजबूती की, हार के बाद वह कैसे पलटवार करते है और जब आप भारत के अन्य युवा खिलाड़ियों को देखे तो बस यही एक सबसे बड़ा अंतर है उनके और आनंद के बीच । आनंद से दबाव के बाद भी पलटवार करना, हार को भुला कर जीत की राह पकड़ना जैसे कुछ गुण अपने अंदर लाना ही  भारतीय शतरंज को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का मूलमंत्र साबित होगा । पढे यह लेख